Type Here to Get Search Results !

वाटसएप पिंक मैसेज वायरल Scam| Scam se bachne| WhatsApp साइवर अपराधियाँ के लिए भी पसंदीदा अड़डा बनता जा रहा है।

 WhatsApp साइवर अपराधियाँ के लिए भी पसंदीदा अड़डा बनता जा रहा है। इन दिनाँ वाटसएप पिंक मैसेज वायरल हो रहा है। इससे आरि्थक नुकसान भी हो सकता है ।आइए जानते हैं क्या है वाट्सएप पिंक स्कैम और कैसे बचें इसके खतरे से.


वाटसएप पिंक मैसेज वायरल Scam| Scamse bachne


दं स्टैंट मैसेजिंग के कारण साइबर अपराधियों की नजर वाट्सएप पर बनी रहती है। इन दिनों' वाट्सएप पिंक स्कैम'से धोखाध हो रही है। साइबर सुरक्षा एजेंसियों ने पिंक वाट्सएप स्कैम के बढ़ते मामलों को देखते हुए कुछ जरूरी दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

 

क्या है Pink Scam:

 इसमें स्कैमर्स यूजर्स को अपडेटेड फीचर्स के साथ नया पिंक लुक वाला वाट्सएप डाउनलोड करने के लिए कहते है। असल में यह खतरनाक मालवेयर है। यदि इस पर कि्लक किया जाता है, तो यह यूजर्स के फोन से संवेदनशील जानकारी चुरा लेता है या स्कैमर को डिवाइस का रिमोटकंट्रोल दे देता है। 


वाटसएप पिंक मैसेज वायरल Scam| Scamse bachne

वाटसएप पिंक मैसेज वायरल Scam| Scamse bachne


क्याँ है खतरनाकः वाट्सएप

किसे है ज्यादा खतरा


पिंक को डाउनलोड करने पर इससे जुड़ा मैसेज आपके सभी कांटैक्ट को चला जाएणा। हैकर्स इससे डिवाइस से ओटीपी, कॉटैक्ट,बैंक अकाउंट डिटेल आदि चुरा सकते है।


वाट्सएप पिंक चेतावनी केवल एंड्रायड यूजर्स के लिए है क्योंकि एपल यूजर्स को धर्ड पार्टी एप स्टोर या एपीके फाइल से एप डाउनलोड की अनुमति नहीं देता है। वाट्सएप पिंक एप थर्ड-पार्टी एपस्टोर और एपीके फाइलों के जरिये ही फैल रहा है ।साइबर सुरक्षा एजेंसियों ने यूजर्स को चेतावनी दी है कि हैकर्स उनके फोन की गैलरी में मौजूद तस्वीरों का उपयोग उन्हें ब्लेकमेल करने या फिर गलत उद्देश्य के लिए कर सकते हैं।


वाटसएप पिंक मैसेज वायरल Scam| Scamse bachne


 कैसे बचें पिंक स्कैम से

यदि आपने पिंक एप खउनलोड कर लिया है, तो इसे तुरंत अनइंस्टाल कर दें । इसके बादफोन का बैकअप लें और

उसे फार्मेट या फिर फैक्टी रीसेट कर दें। सुरकि्षत रहने के लिए वाट्सएप या कोई भी अपडेट गूगल प्लेस्टोर से ही डाउनलोड करें । किसी थपार्टी एप स्टोर या एपीके फाइल से कोई भी वर्जन डाउनलोडन ना करें।


🔸वाटसएप पिंक एप को अनइंस्टाल करने के लिए सेटिंग एप्स> वाट्सएप (पिंक लोगो) पर जाएं और इसे अनइंस्टाल करदें।


🔸अनजान सोर्स से आए किसी भी लिंक पर Click ना करें।


🔸बिना प्रमाणीकरण या सत्यापन के कोई भी लिंक या मैसेज दूसरों को न भेजें, क्यों कि इस तरह से गलत मैसेज भी वायरल हो जाता है। लागइन क्रेवैशयल, पासव ई, क्रेडिट या डेबिट कार्ड विवरण किसी के साथ साझा न करें।अपराधी इसका दुरुपयोग कर सकते हैं।


इस Post को अपने relative में भी शेयर करें और सबको सावधान करें।

More...

www.bharatyanaukari.com

Post a Comment

0 Comments